आज की गाइड Input Device Kya Hai (What is Input Device in Hindi) के बारे में होने वाली है।

आज के इस प्रौद्योगिकी के युग में Computer और Laptop का इस्तेमाल कोई अचम्भे से भरी बात नहीं है। क्योंकि आज हमारे अमूमन काम Computer के द्वारा ही संपन्न किये जाते हैं। जिनमें ईमेल भेजने से लेकर ऑनलाइन पेमेंट करने तक शामिल है।हम Computer और Laptop के साथ कई Device भी इस्तेमाल में लेते हैं। जिन्हें उपयोग के अनुसार निम्न दो भागों में बाँटा जा सकता है -1.Input Device :- Computer में डाटा इनपुट व नियंत्रण।2.Output Device :- Computer से परिणाम प्राप्ति।

ये दोनों ही प्रकार के डिवाइस हमारे काम को आसान बनाते हैं। आप में से कुछ लोग इनके बारे में नहीं जानते हैं तो आज हम Input Device Kya Hai के बारे में जानने वाले हैं जिसमें हम इससे संबंधित महत्वपूर्ण जानकारी के बारे में बात करने वाले हैं।

Input Device Kya Hai (What is Input Device in Hindi)

Input Device वास्तव में Computer Hardware का एक हिस्सा होता है जो Computer को डेटा प्रदान करने और नियंत्रित करने में काम आता है। अर्थात जिन Device के द्वारा हम अपने Computer में डेटा Input करते हैं, उन्हें ही Input Device कहा जाता है। इसके दो मुख्य काम है -

  1. Computer में डेटा को Input (दर्ज) करना,
  2. Computer को Control करना।

इनके द्वारा ही हम अपने Computer का सही इस्तेमाल कर पाते हैं। ये एक वो जरिया हैं जिनसे हम Computer की दुनिया में अपना डेटा भेज सकते हैं और Control भी कर सकते हैं। ये उपयोगकर्ता के Action को Computer को समझाने के लिए उसे इलेक्ट्रॉनिक सिग्नल में बदल देते हैं। वास्तव में इनके बिना आपका सिर्फ एक स्क्रीन से और अधिक कुछ भी नहीं है।  इसके कई उदाहरण हैं जिनमें निम्नलिखित शामिल हैं -

  • Keyboard 
  • Mouse 
  • Touch Pad
  • Touch Screen
  • Joystick
  • Scanner
  • Trackball
  •  Light Pen
  • Webcam 
  • Digital Camera
  • OBR (Optical Bar Code Reader) या BCR (Bar Code Reader/Scanner)
  • Digitizer Tablet
  • Card Reader
  • Microphone
  • OMR (Optical Mark Reader/Recognition)
  • OCR (Optical Character Reader)
  • MICR (Magnetic Ink Character Recognition)

अब आप में से कुछ कहेंगे कि इनमें से कुछ चीज़े तो हमने इस्तेमाल की हैं या करते हैं। तो हाँ, आप इन्हें जानते भी हैं व इस्तेमाल भी करते होंगे। क्योंकि -

कुछ चीज़ें हमारी आँखों के सामने होती हैं पर हम उन्हें देख नहीं पाते हैं।

आइये तो अब Input Device के उदाहरणों को भलीभांति समझते हैं।

Input Device के प्रकार (Types Of Input Device In Hindi)

Computer के Input Devices कई प्रकार के होते हैं जिनकी सूची हमने उपर देखी है। अब हम कुछ ख़ास Input Devices की मुख्य-मुख्य जानकारियों के बारे में बात करेंगे।

Keyboard  (कीबोर्ड)

Input Devices में Keyboard एक मुख्य तथा दुनिया में सबसे अधिक काम लिए जाने वाला व प्रसिद्ध/लोकप्रिय Device है। इसे हिंदी में कुंजीपटल कहते हैं। यह Typewriter की तरह होता है। इससे Computer के लिखने वाले सारे काम होते हैं। इसमें Character और Text के रूप में डाटा Input किया जाता है। इसके अलावा इसकी कुछ Keys के द्वारा Computer को Control भी किया जा सकता है। इससे Computer के किसी Function को भी Shortcuts से चालू किया जा सकता है। 

इसकी भौतिक आकृति आयताकर होती है व इसमें बहुत सारे बटन होते हैं।  इसके Computer में लिखने वाले सारे काम अधूरे हैं और चूँकि हमारे लगभग काम लिखने के ही होते हैं, जैसे:- Email भेजना, Message भेजना, ऑनलाइन Payment और Shopping करना तथा Computer में कोई भी लिखने वाला कार्य आदि। तो इसके बिना हम और हमारा Computer दोनों अधूरे हैं। 

Keyboard दो तरह के आते हैं - Wired Keyboard और Wireless Keyboard. मतलब Computer से Keyboard को 2 तरह से जोड़ा जा सकता है जिसमें एक Wire यानी USB के द्वारा और एक Wireless यानी Bluetooth के द्वारा। 

आमतौर पर Keyboard में 84 Keys, 101/102 Keys, 104 Keys और 108 Keys होती हैं।  ये अलग-अलग Keyboard पर अलग हो सकती हैं लेकिन आजकल ज्यादातर 104 या 108 Keys या बटन Keyboard में देखने को मिलती हैं।  Keyboard की Keys को उनके कार्य व सरंचना के अनुसार निम्न भागों में बांटा जा सकता है -

  • Function Keys :- ये बटन Keyboard में हमें सबसे ऊपर एक क्रम में देखने को मिलती हैं। ये F1 से F12 अर्थात F1, F2, F3, F4, F5, F6, F7, F8, F9, F10, F11, F12 होती हैं। इनका उपयोग एक सॉफ्टवेयर से दूसरे सॉफ्टवेयर में जाती ही बदल जाते हैं। ये Functions को शॉर्टकट के रूप में इस्तेमाल करने में काम आती हैं।
  • Alphanumeric Keys :- ये कुंजियाँ Keyboard के मध्य में स्थित होती हैं। इन्हें Typing Keys भी कह सकते हैं क्योंकि यही Keys Typing में मुख्य भूमिका निभाती हैं। इनमें Alphabets (A-Z), Numbers (0-9), Symbols @, !, #, $, %, ^, *, &, +, =, (, ) व Spacebar सहित Comma (विराम चिन्ह), Dot (बिंदु), Question Mark (प्रश्नवाचक चिन्ह) आदि कई शामिल होते हैं। इनके अलावा Tab, CapsLock, Backspace व Enter Keys भी सम्मिलित होती हैं।
  • Numeric Keys :- ये संख्यात्मक कुंजियाँ (0-9)होती हैं। इसके अलावा इनमें गणितीय गणना में काम आने वाली Keys जैसे:- +, -. *, / तथा Enter key आदि होती हैं। ये Laptop के साथ आने वाले Keyboard में कम देखने को मिलती हैं।
  • Special Purpose Keys :- ये बटन Multimedia Keyboard में ऊपर की तरफ होती हैं। Multimedia Keyboard वे Keyboard होते हैं जिनमें आपको Volume Up और Volume Down के लिए अलग से Keys दी जाती हैं। इन Keys के द्वारा कुछ विशेष कार्य किये जाते हैं। इनमें PrtSc, Pause, Ins, Home, Pg Up, Del, Pg Dn आदि Keys होती हैं। 
  • Modifier Keys :- ये Keys तीन होती हैं - Shift, CTRL, Alt. इन्हें अकेले Press करने पर कोई फर्क नहीं पड़ता है लेकिन अन्य Keys के साथ Press करने पर ये उनका Input बदल देती हैं जो इनको Modifier Keys कहलवाने का कारण है। 
  • Arrow/Navigation Keys :- इन Keys का उपयोग Cursor और स्क्रीन को Control व Move करने के लिए किया जाता है। इनमें चार Arrow Keys होती हैं - Up, Down, Left, Right.  

जितने भी Cursor को Control करने वाले Device हैं उन्हें Pointing Device कहा जाता है

Mouse (माउस)

Mouse एक Pointing Device व Cursor Moving Device है। ये वर्तमान में सर्वाधिक लोकप्रिय Pointer Device है। इससे Computer Cursor की Navigation स्पीड Keyboard की तुलना में काफी बढ़ जाती है। यह समतल सतह पर चलाया जाता है। इसका आकार चूहे (Mouse) जैसा होने पर ही इसे Mouse कहा जाता है।  

Laptop में Touch Pad आता है जो की Mouse की तरह काम करता है। जिसे कि हम हमारी अँगुलियों से Cursor को नियंत्रित करता है। इसका उपयोग Computer में Cursor को Control करने, Clicking, Double Clicking, Right Click, Left Click, Dragging और Scrolling करने के लिए किया जाता है।

Mouse के नीचे एक Rubber Ball या Laser Light होती है। इसलिए जब ये Rubber Ball घुमती है या Laser Light गति करती है तो ये गति Cursor के माध्यम से प्रदर्शित होती है। अर्थात Cursor को Control करती है। इसमें 2 या 3 प्रकार के बटन होते हैं जिन्हें निम्न भागों में बांटा जा सकता है -

  • Left Key :- Mouse के Left Key को एक बार दबाने को ही Left Click कहते हैं। इसका इस्तेमाल किसी Icon को Select करने व Files व Folders को ओपन करने के लिए किया जाता है।
  • Middle Button :- इसे Scroll Button भी कहा जाता है। इसके द्वारा Computer में स्क्रीन को Scroll मतलब Up Down तथा स्क्रीन को Zoom-In और Zoom-Out किया जाता है।
  • Right Key :- Right Key दबाने को ही Right Click कहा जाता है। इसके माध्यम से किसी Computer स्क्रीन पर किसी भी सॉफ्टवेयर या प्रोग्राम की Sub-Menu खोला जा सकता है जहाँ अतिरिक्त Function उपलब्ध होते हैं।

Mouse के प्रकार 

  • Mechanical Mouse
  • Cordless Mouse 
  • Optical/Wireless Mouse 
  • Trackball Mouse 

Joystick (जॉयस्टिक)

Joystick माउस की तरह एक Pointing Device है।Joystick में एक छड़ी (Stick) लगी होती है जिसके माध्यम से Device की दिशा को नियंत्रित किया जाता है। ज्यादातर इसका इस्तेमाल PC Games व Video Games खेलने के लिए किया जाता है क्योंकि इसे दाएं, बायें, ऊपर व नीचे घुमा सकते हैं जो कि Keyboard से गेम खेलने से आसान रहता है। इसके अलावा इसका इस्तेमाल Graphic Designing में भी किया जाता है।

Joystick में कई अन्य बटन और Function भी होते हैं इसलिए ये Games खेलने के लिए प्रसिद्ध Device है। इससे अन्य काम भी किये जा सकते हैं जैसे - Wheelchair को Control करना, Drone व Robots इत्यादि को Control करना। इसका इस्तेमाल Crane और JCB में भी उसे Control करने के लिए किया जाता है।

Light Pen (लाइट पेन)

इसका आकार बिलकुल Pen जैसा होता है। ये भी एक Pointing Device है जिसका इस्तेमाल ज्यादातर Graphical Work करने के लिए किया जाता है। इसकी सहायता से Computer स्क्रीन पर लिखने, चित्र बनाने, Data को Modify करने व Barcode स्कैन करने जैसे काम किये जाते हैं।

इस Light Pen का बटन जब दबाया जाता है तो वह Computer स्क्रीन पर एक Click की तरह काम करता है। इसे Touch Screen का जन्म दाता भी कहा जाता है। Light Pen में Photocell का इस्तेमाल किया जाता है इसलिए जब Pen को स्क्रीन पर घुमाया जाता है और इसका बटन Press किया जाता है तो ये Photocell स्क्रीन की Location को Detect करके उससे संबंधित Signal को CPU की पास भेज देती है। जिससे ये Light Pen काम करती है।

Trackball (ट्रैकबॉल)

Trackball भी एक Pointing Device है जो Mouse की तरह ही कार्य करती है। इसके द्वारा Computer स्क्रीन पर Cursor को Control किया जाता है। इसमें Cursor को Move करने के लिए 1 उभरी हुए गेंद और अन्य बटन भी होते हैं। Trackball इस्तेमाल करते समय अंगूठा गेंद पर व बाकी अंगुलियाँ इसके बटन पर रहती हैं। इसमें Mouse की तरह पूरे Trackball को Move नहीं करना पड़ता है बल्कि सिर्फ उस उभरी गेंद को Move करना होता है।

ये Mouse की अपेक्षा कम जगह भी घेरता है। इसे Laptop व Mobile के साथ इस्तेमाल किया जाता है। 

Microphone (माइक्रोफोन)

ये एक Input Device है जिसके द्वारा Computer में हमारी Sound को Input करता है और उसे डिजिटल Form में Convert कर देता है। Microphone का इस्तेमाल Audio Recording, Video Recording जैसे Movie बनाने इत्यादि में किया जाता है। 

यह Sound को Speaker के जरिये Output भी करता है। आजकल इसका इस्तेमाल Singing, Podcast और Online Video और Audio Chatting में भी किया जाता है। इसे Short में MIC (माइक) भी कहते हैं। 

Conclusion (निष्कर्ष)

आज हमने जाना कि Input Device Kya Hai. जिसमें हमने Input Device से जुड़े निम्न बिंदुओं पर चर्चा की -

  • Input Device Kya Hai (What is Input Device in Hindi)
  • Input Device के प्रकार (Types Of Input Device In Hindi)
  • - Keyboard (कीबोर्ड)
  • - Mouse (माउस)
  • - Joystick (जॉयस्टिक)
  • - Light Pen (लाइट पेन)
  • - Trackball (ट्रैकबॉल)

आप ये भी पढ़ सकते हैं -